No icon

सोशल मीडिया पर बच्चों से भरी गाड़ी का वीडियो हुआ वायरल

उत्सव सोनी/पंकज आडवाणी, भीलवाड़ा : सिटी कोतवाली थाना पुलिस ने नाबालिक बच्चों से भरी क्रूजर गाड़ी को जप्त कर कार्यवाही की है। जानकारी में आया कि मीडिया के प्रतिनिधि को शहर के मध्य से गुजर रही क्रूजर गाड़ी में लगभग 25 से 30 नाबालिग बच्चों को गाड़ी में बिठाकर कोविड-19 के नियमों का उल्लंघन कर बच्चों को गाड़ी मैं बैठा कर ले जाया जा रहा है। एक मीडिया संस्थान के प्रतिनिधि ने शहर के मध्य से निकल रही गाड़ी के ड्राइवर से जानकारी ली तो ड्राइवर ने कहीं अन्यत्र जगह खाना खाने की बात बताई। मीडिया प्रतिनिधि ने गाड़ी में बच्चों को क्रूरता पूर्वक ले जाने की जानकारी ली व वीडियो बनाया तो ड्राइवर भभक उठा और मामला गर्मा गया। मीडिया के प्रतिनिधि ने स्थानीय पुलिस को सूचना दी। सूचना पर कोतवाली थाने के अधिकारियों ने मौके पर पहुंचकर मामले को शांत करवाया। बच्चों को कावाखेड़ा स्थित क्षेत्र में बच्चों के माता-पिता को सुपुर्द कर गाड़ी व ड्राइवर के खिलाफ कार्यवाही की है।

*सोशल मीडिया पर बच्चों से भरी गाड़ी का वीडियो हुआ वायरल*

*बचपन बचाओ आंदोलन ने कार्यवाही की की मांग*

सोशल मीडिया पर नाबालिग बच्चों से भरी गाड़ी का वीडियो वायरल होने से बचपन बचाओ आंदोलन के वोलियंटर को जानकारी मिली कि भीलवाड़ा शहर की पुलिस ने नाबालिग बच्चों से भरी गाड़ी पर कार्यवाही की है। जिसकी जानकारी के लिए बचपन बचाओ आंदोलन के वोलियंटर ने थानाधिकारी से बच्चों से संबंधित हुई कार्रवाई की जानकारी चाहि तो जानकारी नहीं होना बताया। बच्चों से संबंधित कोई कार्यवाही नहीं की है।

*उच्च अधिकारियों तक पहुंचा मामला*

बचपन बचाओ आंदोलन के वोलियंटर ने बच्चों से जुड़े मामले को गंभीरता से लेते हुए भीलवाड़ा एसपी व पुलिस महानिदेशक जयपुर को अवगत करवाया है। सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो फोटो भेज कर कार्यवाही की मांग कि है। बचपन बचाओ आंदोलन जयपुर के प्रोजेक्ट ऑफिसर को मामले से अवगत करवाया है।

*उच्च अधिकारियों के संज्ञान से हुई कार्यवाही*

जब पूरे मामले की जानकारी पुलिस महानिदेशक जयपुर व जिला पुलिस अधीक्षक भीलवाड़ा को मिली तो उच्च अधिकारियों ने कोतवाली पुलिस को निर्देश देकर मामले की सत्यता जांचने के निर्देश दिए है।

इनका कहना है

बच्चों से भरी गाड़ी की सूचना मिली है, जानकारी ली जा रही है भीलवाड़ा एसपी से भी इस मामले में चर्चा की गई, बालश्रम जैसा अभी कोई मामला नजर नहीं आ रहा है। मामले की गहनता से जांच करवाई जा राही हे जल्द ही रिपोर्ट आ जाएगी।<!--/data/user/0/com.samsung.android.app.notes/files/clipdata/clipdata_210619_185107_788.sdoc-->

Comment As:

Comment (0)