No icon

राजस्थान सरकार मृत्युभोज पर हुई शख़्त।भोज आयोजन करने बालो पर होगी करवाई

राज साहनी, न्यूज़लाइन नेटवर्क : देश में लगातार कोरोना महामारी का संक्रमण बढ़ता जा रहा है ।ऐसे में सरकारें इस वैश्विक महामारी से निपटने के लिए विभिन्न प्रकार के उपाय कर रही हैं ।मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग पर जोर दिया जा रहा है। तो कहीं दुकानों के खुलने और बंद होने का समय निर्धारित कर दिया गया है ।तो कहीं मास्क लगाकर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए दुकानदारों को यह हिदायत दी जा रही है कि जो ग्राहक दुकान पर सामान लेने आते हैं। वे मास्क लगाकर ही दुकानों पर आएंगे अगर वे इसका अनुपालन नही करते है तो उन्हें समान नही दिया जाय।आदेश का पालन नही करने बालो पर दंडित किया जाय।अगर वे ऐसा नहीं करते है तो उन्हें ₹50 का जुर्माना का प्रावधान भी किया गया है। इसी तरह की एक कोशिश राजस्थान सरकार ने करने की कवायद शुरू कर दी है राज्य में मृत्यु भोज कराने वालों पर 1 साल की सजा के साथ ₹1000 का जुर्माना भी लगाए जाने की बात प्रकाश में आई है ।राजस्थान अपराध शाखा के डीआईजी किशन सहाय ने सभी जिले के एसपी को मृत्यु भोज पर लगाम लगाने का आदेश जारी किया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार मृत्यु भोज की सूचना नही देने पर स्थानीय प्रतिनिधियो एवं एवम सरकारीकर्मी पर कार्रवाई होने की बात बताई जा रही है ।ज्ञातव्य हो कि सरकार का यह कानून नया नहीं है ।सन 1960 में मृत्यु भोज निवारण अधिनियम कानून बनाया गया था। पुलिस को इस नियम का पालन करवाने की हिदायत दी गई है। उक्त अधिनियम की धारा में तीन उल्लेख है राज्य में कोई भी निवेश का आयोजन नहीं कर सकता और ना ही उसमें शामिल हो सकता है। कानून में मृत्यु भोज के आयोजन करने वाले पर भी कार्रवाई होगी<!--/data/user/0/com.samsung.android.app.notes/files/clipdata/clipdata_200708_192010_825.sdoc-->

Comment As:

Comment (0)