No icon

जाने 30,000/- रूपये प्रति किलो वाली सब्जी के बारे में

गुच्छी औषधीय गुणों से भरपूर होते हैं।इसका वैज्ञानिक नाम मार्कुला एस्क्यूपलेटा है यह स्पंज मशरूम के नाम से पूरे देश में प्रसिद्ध है। यह गुच्छी कई औषधीय गुणों के साथ स्वाद में अतुलनीय है। क्षेत्रीय लोग इसे छतरी, टटमोर या डूंघरु बोलते है। गुच्छी चंबा, कुल्लू, शिमला, मनाली सहित राज्य के कई जिलों के जंगलों में पाई जाती है। आजकल, अधिकांश लोग गुच्छी की विशेषताओं से अवगत नहीं हैं। इसलिए, यह पूरी तरह से उपयोग में नहीं है। गुच्छी प्राकृतिक रूप से पर्वतीय उच्चभूमि के घने जंगलों में पाया जाता है। अंधाधुंध कटाई के कारण अब यह बहुत कम संख्या में पाए जाते हैं। यह सबसे महंगी सब्जी है। इसका सेवन सब्जी के रूप में किया जाता है। यह केवल हिमाचल के बड़े होटलों में प्रदान किया जाता है।
जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री थे, तब उन्होंने कई पत्रकारों से कहा था कि उनके स्वास्थ्य का राज़ हिमाचल प्रदेश में है। प्रधानमंत्री इसे बहुत पसंद करते हैं। दरअसल, पीएम मोदी सालों से पार्टी कार्यकर्ता के रूप में हिमाचल में रहते रहे हैं, वहां उनके कई दोस्त हैं। मोदी जी को भी यह विशेष मशरूम पसंद है क्योंकि पहाड़ों में शाकाहारी लोगों को प्रोटीन और गर्म भोजन की बहुत आवश्यकता होती है। हालाँकि पीएम हर दिन इसका सेवन नहीं करते हैं, लेकिन उन्होंने स्वीकार किया है कि वे वास्तव में इसे पसंद करते हैं। इसमें विटामिन बी कॉम्प्लेक्स, विटामिन डी और कई आवश्यक अमीनो एसिड होते हैं। इसे लगातार खाने से दिल का दौरा पड़ने की संभावना कम हो जाती है। इसकी मांग केवल भारत में ही नहीं है, बल्कि यूरोप, अमेरिका, फ्रांस, इटली और स्विट्जरलैंड जैसे देशों में भी है। 

Comment As:

Comment (0)