No icon

कश्मीर मुद्दे पर पाकिस्तान की तरफदारी कर रहा है अमेरिकी मीडिया

भारत सरकार द्वारा जम्मू कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाए जाने के बाद से ही अमेरिकी मीडिया कश्मीर पर एकतरफा रिपोर्टिंग कर रहा है। अमेरिका में भारत के राजदूत हर्षवर्धन श्रृंगला ने कहा है कि अमेरिकी मीडिया के कुछ वर्गों विशेष रूप से उदारवादी मीडिया कश्मीर के उस पहलू पर ही अपना ध्यान केंद्रित कर रहा हैं जो भारत के खिलाफ हैं।
हर्षवर्धन श्रृंगला ने कहा कि भारत ने पिछले महीने जम्मू-कश्मीर की विशेष स्थिति को समाप्त करने और केंद्र शासित प्रदेशों में इसे समाप्त करने का कदम वहां के लोगों की भलाई को देखते हुए लिया था।न्यूज एजेंसी पीटीआई को दिए एक इंटरव्यू में शीर्ष भारतीय राजनयिक ने कहा कि आर्टिकल 370 को हटाया गया, जिसने राज्य को विशेष दर्जा दिया था। एक विशेष प्रावधान जो वहां की अर्थव्यवस्था को बर्बाद कर रहा था और पाकिस्तानी आतंकवाद को बढ़ावा दे रहा था।श्रृंगला ने आगे कहा, 'दुर्भाग्य से अमेरिका में कुछ मीडिया विशेष रूप से उदारवादी मीडिया ने कुछ विशेष कारणों से कश्मीर पर सिर्फ एक पहलू दिखाने की कोशिश की है, जो उनके मुताबिक है।'
बता दें, अमेरिका में कश्मीरी पंडितों ने हाल ही में जम्मू-कश्मीर में हुए घटनाक्रमों की एकतरफा खबरें प्रकाशित करने के खिलाफ  'द वॉशिंगटन पोस्ट' के कार्यालय के सामने विरोध प्रदर्शन किया था।भारतीय राजदूत के अनुसार, कश्मीर में हालात बदल रहे हैं और बेहतर हो रहे हैं। जम्मू-कश्मीर के निवासियों के हितों के लिए बदलाव लाएंगे।यह उन अधिकारों को प्राप्त करने में मदद करेगा जो कई दशकों से उनके लिए अस्वीकार किए गए हैं।

Comment As:

Comment (0)