No icon

मछलीगांव वन रक्षक चौकी के ठीक पीछे दो पेड़ों की कटान हुई 10 बोटा छोड़ भागे चोर

राममिलन कुमार कैंम्पियरगंज :-मछलीगांव वनरक्षक चौकी के ठीक पीछे स्थित सागौन के जंगल में आज फिर हुई दो पेड़ों की कटान 10 बोटा मौके पर छोड़कर भागे चोर । आपको बता दें इस जंगल में हमेशा कटान होती रहती है और कार्यवाही के नाम पर ढाक के तीन पात। और जिसका नतीजा है कि आये दिन इस जंगल का अस्तित्व खतरें में है। एक तरफ भारत सरकार और उत्तर प्रदेश सरकार आम जन मानस को अधिक से अधिक पेड़ लगाने और पेड़ों के संरक्षण को बढ़ावा दे रही हैं वहीं कुछ वनमाफिया कर्मियों की वजह से हरे भरे पेड़ को काटकर चोर जंगल को खाली कर दे रहे हैं। 

वहीं वनरक्षक हरिश्चंद्र यादव ने बताया कि जब इस पेड़ की कटान हुई तो मैं कंटाइन माता वाले जंगल में था । और किसी की सूचना पर पेड़ों की कटान स्थल पर गया और देखा कि चोर लकड़ी के बोटे लेकर जाने में असफल हुए और भाग खड़े हुए । लेकिन लकड़ी के सभी 10 बोटे बरामद कर आगे की कार्यवाही की जा रही है। वही यहां पर तैनात वन्यजीव रक्षक जगदीश कुशवाहा से जब इस संदर्भ में बातचीत की गई तो उन्होंने बताया कि सभी मोटे हमारे कब्जे में हैं और जो भी अज्ञात लोग हैं उनके विरुद्ध विधिक कार्यवाही की जाएगी।

जब फॉरेस्टर कासिम अली से इस संदर्भ में बातचीत करने का प्रयास किया गया तो उनका नंबर पहुंच से बाहर था।

बार बार कटान को देखते हुए अनायास ही लोग यह बात करते पाये गये कि कोरोना की दूसरी लहर के दौरान आक्सीजन के लिए लोगों को कितनी मारा मारी पडी़ थी वह देखने लायक था। और अगर स्थिति यही बनी रहेगी तो इस क्षेत्र के लोगों को न जाने क्या स्थिति से निपटना पड़ सकता है।

Comment As:

Comment (0)