No icon

जिलाधिकारी श्री अमृत त्रिपाठी ने पवई ब्लॉक के सौदमा ग्राम में स्थित अस्थाई गौ-आश्रय स्थल का किया निरीक्षण

डाक्टर बीरेन्द्र कुमार सरोज आजमगढ :-जिलाधिकारी श्री अमृत त्रिपाठी ने देर सांय पवई ब्लॉक के सौदमा ग्राम में स्थित अस्थाई गौ-आश्रय स्थल का आकस्मिक निरीक्षण किया। 
मुख्य पशु चिकित्साधिकारी ने अवगत कराया कि यहां पर कुल 80 गोवंश है।ं उन्होंने जिलाधिकारी को अवगत कराया की जनपद में कुल 44 पशु आश्रय स्थल अस्थाई रूप से संचालित की जा रही है।
जिलाधिकारी ने मौके पर उपस्थित अधिकारियों को निर्देश दिया कि कड़ी ठंड को देखते हुए तत्काल आसपास के क्षेत्रों में अस्थाई गौशाला बनाया जाए। उन्होंने संबंधित उपजिलाधिकारी एवं तहसीलदार को निर्देश दिया कि अस्थाई गौ-आश्रय के लिए जगह चिन्हित कर छप्पर आदि डालकर गोवंश को सुरक्षित किया जाए। जिलाधिकारी ने मुख्य पशु चिकित्साधिकारी को निर्देश दिया कि पशुओं के लिए पर्याप्त चारा, पानी, भूसा आदि की व्यवस्था सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि सभी पशुओं का जियो टैगिंग एवं टीकाकरण सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने कहा कि किसी भी गोवंश की बीमारी से मृत्यु ना होने पाए।
 जिलाधिकारी श्री अमृत त्रिपाठी ने अधिकारियों को निर्देश दिया कि आगामी 19 जनवरी 2022 को जूम मीटिंग के माध्यम से सभी गौ-आश्रय स्थलों की समीक्षा की जाएगी। उन्होंने निर्देशित किया की जूम मीटिंग में सभी संबंधित पशु चिकित्सक/ग्राम प्रधान/बीडीओ/तहसीलदार/एसडीएम तथा ग्राम पंचायत सेक्रेटरी का उपस्थित होना अनिवार्य है।
जिलाधिकारी ने अधिशासी अभियंता पीडब्ल्यूडी को निर्देश दिया कि गौ आश्रय स्थल को जोड़ने वाली सड़क को तत्काल बनवाया जाए, जिससे गोवंश को लाने-ले जाने के लिए आने वाली गाड़ियों को परेशानी ना हो। उन्होंने अधिशासी अभियंता को निर्देश दिया कि मिट्टी और गिट्टी को निकाल कर जांच किया जाए कि निर्माण कार्य के अनुरूप हो रहा है कि नहीं। इसी के साथ ही उन्होंने कहा कि सड़क निर्माण की स्वीकृत कब हुई, इसके बजट कब पास हुए तथा निर्माण कार्य कब प्रारंभ हुआ, इसका विस्तृत जानकारी उपलब्ध करायी जाए।

Comment As:

Comment (0)