No icon

भीलवाड़ा तहसीलदार लालाराम यादव को उनके सहयोगियों के साथ एसीबी ने किया गिरफ्तार

भीलवाड़ा तहसीलदार लालाराम यादव को उनके सहयोगियों के साथ एसीबी ने किया गिरफ्तार

संवाददाता--पंकज आडवाणी

भीलवाड़ा। राजस्थान में भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो लगातार सक्रिय है लेकिन फिर भी कुछ घूसखोर रिश्वत लेने से बाज नहीं आते है। अब एक नया मामला भीलवाड़ा का सामने आया है। एसीबी ने भीलवाडा में  तहसीलदार लालाराम यादव को ट्रैप किया है वहीं मामले में दो अन्य सहयोगी व्यक्तियो को भी गिरफ्तार किया गया है। एसीबी मुख्यालय के निर्देश पर मुख्यालय स्थित इन्टेलिजेन्स शाखा द्वारा विकसित सूचना पर सत्यापन के पश्चात आरोपियों के विरूद्ध पी.सी.एक्ट का प्रकरण दर्ज कर मंगलवार को एसीबी की एस.यू. प्रथम, जयपुर इकाई द्वारा विभिन्न टीमों ने कार्यवाही शुरू की। भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो के महानिदेशक भगवान लाल सोनी ने बताया कि, महत्त्वपूर्ण सूत्र सूचना मिलने पर ब्यूरो मुख्यालय द्वारा लालाराम यादव, तहसीलदार तहसील भीलवाडा एवं उसके दलाल कैलाश धाकड निवासी बिजौलिया पर गोपनीय निगरानी रखी। निगरानी से तहसील/उपखण्ड कार्यालय के राजस्व व अन्य मामलों में सांठ-गांठ कर रिश्वती राशि के लेनदेन का मामला बनता पाये जाने पर आरोपियों के विरुद्ध भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम में प्रकरण दर्ज कर अनुसंधान अधिकारी राजेन्द्र नैन, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक के नेतृत्व में ब्यूरो की विभिन्न टीमों द्वारा कार्यवाही करते हुए मंगलवार सुबह आरोपियों के 4 विभिन्न ठिकानों पर तलाशी की कार्रवाई की गई। ब्यूरो की प्रथम सूचना रिपोर्ट के अनुसार लालाराम यादव तहसीलदार भीलवाडा द्वारा अपने दलाल कैलाश धाकड, मनोज धाकड व पक्षकार दीपक चौधरी से सांठगांठ कर एक मामले में तीन लाख रूपये रिश्वती राशि स्वयं के भाई पूरणमल यादव  निवासी सेवापुरा चाकसू के बैंक खाते में डलवाना सत्यापन से पाया गया। प्रकरण में लालाराम यादव, तहसीलदार भीलवाडा, दलाल कैलाश धाकड व उसके पुत्र मनोज धाकड निवासी बिजौलिया, दीपक चौधरी निवासी गणेश मंदिर के पास भीलवाडा व पूरणमल यादव निवासी सेवापुरा चाकसू (तहसीलदार का बड़ा भाई) के निवास स्थानों की एसीबी द्वारा तलाशी ली गई। तलाशी में लालाराम यादव तहसीलदार के भीलवाड़ा स्थित निवास से 5 लाख 37 हजार रुपये नगद तथा उसके दलाल कैलाश धाकड़ के बिजौलिया निवास से 12 लाख रुपये से अधिक नकद राशि सहित कई महत्त्वपूर्ण दस्तावेज/साक्ष्य मिले हैं। एसीबी के अतिरिक्त महानिदेशक दिनेश एम.एन. के निर्देशन में विभिन्न टीमों द्वारा आरोपियों के ठिकानों पर तलाशी जारी है, संदिग्धों के विरुद्ध दर्ज प्रकरण में अग्रिम अनुसंधान किया जाएगा। इस कार्यवाही में रिश्वत देने वाला, दलाल व सरकारी कर्मचारी को गिरफ्तार किया गया है। 

एसीबी महानिदेशक ने समस्त प्रदेशवासियों से की अपील

एसीबी महानिदेशक भगवान लाल सोनी ने समस्त प्रदेशवासियों से अपील की है कि भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो के टोल - फ्री हैल्पलाईन नं . 1064 एवं Whatsapp हैल्पलाईन नं . 9413502834 पर 24x7 सम्पर्क कर भ्रष्टाचार के विरुद्ध अभियान में अपना महत्वपूर्ण योगदान दें। एसीबी आपके वैध कार्य को करवाने में पूरी मदद करेगी। विदित रहे कि एसीबी राजस्थान राज्य में राज्कर्मियों के साथ-साथ केन्द्र सरकार के कार्मिकों के विरूद्ध भी कार्यवाही करने को अधिकृत है।

Comment As:

Comment (0)