No icon

बाल दिवस पर डिलीजेंट पब्लिक स्कूल के छात्रों का शैक्षिक भ्रमण

तवर अब्बास/अहमद राजा

छात्रों को दी विश्व धरोहर  स्लेटी  चट्टानों और जंगलों  की जानकारी

साठ छात्रों और शिक्षकों ने देखी जमतिहवा नाला की पहाड़ियों की चट्टाने ,


म्योरपुर/सोनभद्र/स्थानीय ब्लॉक क्षेत्र के ग्राम पंचायत देवरी स्थित डिलीजेंट पब्लिक स्कूल के छात्रों को बाल दिवस के दिन सोमवार को शैक्षिक भ्रमण कराया और  खंता तथा विश्व धरोहर जमतिहवा नाला की पहाड़ियों की स्लेटी चटानो का स्थलीय भ्रमण करा कर उसके महत्व की जानकारी दी गई।मुख्य अतिथि के रूप में आमंत्रित प्रख्यात पर्यावरण कार्यकर्ता जगत नारायण विश्वकर्मा और मुकेश कुमार सोनी ने रिहद बांध से जुड़ी जानकारियां दी साथ जंगल के पेड़ पौधे और जड़ी बूटी औषधीय पौधों से अवगत करवाया ।छात्रों को जमतिहवा नाला की  चट्टानों  को दिखाते हुए जानकारी दी गई की यह चट्टाने 180 करोड़ वर्ष से भी पुरानी है और यह महा कौशल समुद्र के तलछटी से बनी है इन चट्टानों में पृथ्वी के चार बार उथल पुथल का रहस्य छिपा है और भू वैज्ञानिकों के लिए शोध केंद्र का एक मात्र स्थान है।इसकी खोज बीएचयू के प्रो वैभव श्रीवास्तव ने तीस वर्षों के अध्ययन के बाद किया जिसे हाल ही में अमरीका,बांग्लादेश समेत देश के वरिष्ठ वैज्ञानिकों ने देखा और बताया की ऐसी चट्टाने देश दुनिया में देखने को नहीं मिली है।छात्रों ने थोड़ी दूर से वहा की चितवा मंदा  की खोह भी देखी लेकिन चार सौ फीट से ज्यादा  ढलान के वजह से नजदीक जाने की इजाजत नहीं दी गई।पहाड़ी से घने जंगल और नीचे का जलाशय का विहंगम दृश्य देख छात्र अचंभित और अभिभूत हुए।और कहा की यह पर्यटन स्थल घोषित होना चाहिए। मौके पर संतोष कुमार, रिंकी सोनी, शारदा, अंजली गुप्ता, सीमा कुमारी, अभिषेक सोनी, विवेक सोनी, रेखा यादव, कविता भार्गव, निशी प्रभा अंजली, इस्मा आदि शिक्षक उपस्थित रहे।

Comment As:

Comment (0)