No icon

दुखद खबर, नही रहे पूर्ववित्तमंत्री अरुण जेटली।

पूर्व वित्त मंत्री भारतीय जनता पार्टी के बड़े नेता अरुण जेटली का  शनिवार दोपहर करीब 12:00 बजे निधन हो गया अरुण जेटली बीते कई दिनों से नई दिल्ली के एम्स अस्पताल में भर्ती थे उन्हें एम्स में लाइव स्पोर्ट पर कई दिन तक रखा गया था कुछ दिन पहले ही अरुण जेटली की तबीयत जानने के लिए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद पीएम नरेंद्र मोदी गृह मंत्री अमित शाह दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल आदि ने पहुंचकर उनका हाल जाना था बता दे कि अरुण जेटली 9 अगस्त से एम्स में भर्ती थे गौरव तलब है कि मई 2018 में जेटली का अमेरिका में किडनी प्रत्यारोपण हुआ था इसके बाद जेटली के बाएं पैर में सॉफ्ट टिशु कैंसर हो गया था जिसके इलाज के लिए वह इसी साल अमेरिका भी गए थे लोकसभा चुनाव में भाग न लेने और मंत्रालय का प्रभार छोड़ने के पीछे तबीयत ही वजह है हालांकि अरुण जेटली तबीयत खराब होने के बीच भी ट्विटर पर काफी सक्रिय थे अरुण जेटली ने खुद ट्वीट पर एक चिट्ठी लिखकर मंत्रिमंडल में शामिल ना होने की जानकारी दी थी समय-समय पर विभिन्न मुद्दों पर वह अपने ब्लॉग के जरिए अपनी बातें रखा करते थे विपक्ष पर निशाना साधते थे उधर उनके निधन पर नगर विकास आवास मंत्री सुरेश शर्मा सांसद अजय निषाद ने शोक व्यक्त किया अजय निषाद ने कहा कि अरुण जेटली हमारे अभिभावक की तरह रहे उनसे जुड़े मंत्रालय से संबंधित कोई भी मांग उनके सामने रखी उनका निदान करते । भारत नेपाल के बीच कस्टम सेवा को सुगम बनाने के लिए नेपाल के सांसद प्रदीप यादव के साथ उनसे मिले थे वह काफी गंभीर हुए भारत नेपाल बॉर्डर पर कस्टम व्यवस्था बहुत ही शुभ हुई उनका जाना भारतीय राजनीति की अपूरणीय क्षति  है सांसद के अंदर जब भी मिले एक अभिभावक की तरह मार्गदर्शन किया और उन्हें बराबर प्रोत्साहित करते रहे उनका जाना एक परिवारिक क्षति है न्यूज़लाईन नेटवर्क के वरिष्ठ पत्रकार जीकेपी राजू कुमार राहुल राणा मंजय कुमार के रघुनाथ उनके निधन पर  शोक व्यक्त किया।

Comment As:

Comment (0)