No icon

पीएम मोदी ने बनाया एक और रिकॉर्ड

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Modi) बेंगलुरु (Bengaluru) के इसरो (ISRO) में चंद्रयान- 2 (Chandrayaan-2) के हर घटना का साक्षी बने. सबसे बड़ी बात यह है कि देश के प्रधानमंत्री मोदी (PM MODI) उस कठिन घड़ी में भी वैज्ञानिकों (Scientists) का साथ दिया जब देश के वैज्ञानिकों की इसकी जरूरत थी. पीएम ने ना केवल उनका हौसला बढ़ाया बल्कि उनके साथ मजबूती के साथ खड़े भी रहे.बेंगलुरू के इसरो स्टेशन (Isro Space Centre) से पहले पीएम बीना रुके बीना थके विदेश यात्रा से देश में आने के बाद एक के बाद एक सरकारी कामों में लगे रहे. शुक्रवार सुबह ही पीएम मोदी रूस (Russia) के व्लादिवोस्तोक शहर में ईस्टर्न इकोनॉमिक फोरम (EEF) की बैठक में शिरकत करने के बाद दिल्ली पहुंचे थे. पीएम मोदी शुक्रवार सुबह से ही केंद्र सरकार के विभिन्न योजनाओं और कार्यक्रमों को लेकर बैठक करते रहे. दिन भर के लगातार काम के बाद पीएम शाम को बेंगलुरु पहुंचे.यहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चंद्रयान 2 के लैंडिंग प्रक्रिया में इसरो के वैज्ञानिकों के साथ खड़े रहे.  पीएम चंद्रयान-2 को लेकर पूरी रात टकटकी लगाए रहे. बेंगलुरु में वह वैज्ञानिकों से बात करते रहे और चंद्रयान की हर पल की जानकारी ली. लैंडिंग में आई समस्या के बाद भी पीएम वहां के वैज्ञानिकों के हौसला अफजाई करते देखे गए. लैंडिंग में आई दिक्कत के बाद इसरो मुख्यालय में वैज्ञानिकों के चेहरे पर तनाव नजर आया.पूरी रात हर उतार चढ़ाव के पल का साक्षी बनने के बनने के तुरंत बाद पीएम बेंगलुरु से मुंबई निकल गए. तय कार्यक्रम के मुताबिक पीएम मोदी मुंबई में मुंबई मेट्रो के कई कार्यक्रमों और उद्घाटनों में शिरकत किया. मुंबई के कार्यक्रम के बाद पीएम औरंगाबाद के लिए निकल गए. औरंगाबाद में भी पीएम मोदी एक के बाद एक एक कार्यकमों में हिस्सा लेंगे फिर उसके बाद पीएम मोदी दिल्ली लौटेंगे.

Comment As:

Comment (0)